क्लास रूम की दीवारों पर बनवाई हवाई जहाज की पेंटिंग: बच्चों को काफी पसंद आ रहा स्कूल, एडमिशन भी बढ़ गए


झालावाड़34 मिनट पहले

गोविंदपुरा स्कूल में क्लास रूम की दीवार पर हवाई जहाज की पेंटिंग करवाई गई है, जिससे दूर से ऐसा लगता है कि कोई हवाई जहाज खड़ा हो।

सरकारी स्कूलों की तरफ बच्चों और अभिभावकों का रुझान बढ़ाने के लिए अब टीचर प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर सरकारी स्कूलों को विकसित कर रहे हैं। झालावाड़ जिले में इस तरह के कई उदाहरण आए दिन सामने आ रहे हैं। झालरापाटन के गोविंदपुरा गांव के राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल भी इसी तरह का एक उदाहरण है। यहां संस्था प्रधान रजनीगंधा सोनी ने ग्राम पंचायत, भामाशाह के सहयोग और स्कूल को मिलने वाले फंड से स्कूल की दशा को पूरी तरह बदल दिया है। उन्होंने दीवारों पर ऐसी पेंटिग्स बनवाई हैं, जिनसे बच्चों को कुछ न कुछ सीखने को मिलता है।

स्कूल के कोने-कोने में की गई पेंटिंग्स से बच्चों को कुछ न कुछ सीखने को मिलता है।

रजनीगंधा सोनी का मानना है कि इससे बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचि पैदा होगी और वह स्कूल आने के लिए प्रेरित होंगे। उन्हें यहां खेल-खेल में शिक्षा दी जा रही है। सोनी ने स्कूल में बच्चों के लिए पीने के पानी की व्यवस्था के लिए प्याऊ बनवाई है। इसके अलावा इन्वर्टर भी लगवाया है, ताकि बिजली के कारण बच्चों की पढ़ाई बाधित नहीं हो। इसके अलावा स्कूल में बच्चों के लिए टेबल-कुर्सी और प्रोजेक्टर की सुविधा भी उपलब्ध कराई। जैन श्वेतांबर ग्रुप की ओर से यहां पर वॉटर कूलर और एक क्लासरूम का निर्माण करवाया है। स्कूल के शैक्षिक और भौतिक विकास के लिए पूरे स्टाफ ने सहयोग किया।

https://www.videosprofitnetwork.com/watch.xml?key=019faf0ba059e9646f978d9dc2d65b2e
संस्था प्रधान रजनीगंधा सोनी ने ग्राम पंचायत, भामाशाह के सहयोग और स्कूल को मिलने वाले फंड से स्कूल की दशा को पूरी तरह बदल दिया है।

संस्था प्रधान रजनीगंधा सोनी ने ग्राम पंचायत, भामाशाह के सहयोग और स्कूल को मिलने वाले फंड से स्कूल की दशा को पूरी तरह बदल दिया है।

क्लास रूम की दीवार पर करवाई हवाई जहाज की पेंटिंग
संस्था प्रधान ने बताया कि कई स्कूलों में क्लास रूम की दीवारों पर इस तरह पेंटिंग करवाई गई है, जैसे कोई ट्रेन का कोच खड़ा हो। इसको ध्यान में रखते हुए हमने स्कूल में क्लास रूम की दीवार पर पेंटिंग करवाई है, जिससे दूर से क्लास रूम हवाई जहाज की तरह नजर आता है। बच्चे इस तरह की पेंटिंग को देखकर स्कूल की तरफ आकर्षित हो रहे हैं, जिससे यहां का नामांकन भी बढ़ रहा है। उन्होंने बताया कि गोविंदपुरा स्कूल में बच्चों को खेलकूद के साथ ही मनोरंजन की गतिविधियां भी करवाई जाती है। लगातार नए प्रयोगों से यहां पर लगातार नामांकन में बढ़ोतरी हो रही है। 2016 में स्कूल में करीब 300 स्टूडेंट का नामांकन था, जो आज बढ़कर 582 हो गया है। अब गांव के स्टूडेंट प्राइवेट स्कूलों को छोड़कर सरकारी स्कूल में एडमिशन ले रहे हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

https://sluicebigheartedpeevish.com/u4j5ka2p?key=f9b1fb0aab078545b23fc443bdb5baad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: