किन लोगों को रहता है लकवा मारने का खतरा, क्या इसके संकेतों को पहले से समझ सकते हैं?


Paralysis Stroke Cause: लकवा मारने के बारे में तो आपने सुना ही होगा. ज्यादातर उम्र बढ़ने और शरीर में बीमारियों होने पर लकवा मारने का खतरा रहता है. हालांकि आजकल युवाओं में भी ये समस्या बढ़ रही है. आपने बड़े-बुजुर्गों  में लकवा की स्थिति देखी होगी. इस बीमारी में शरीर का एक हिस्सा काम करना बंद कर देता है. इस पक्षघात भी कहते हैं इसमें एक तरफ का हाथ, पैर, मुंह और आंख प्रभावित होते हैं. लकवा के बारे में पहले से कुछ पता नहीं चलता है ये सिर्फ कुछ मिनटों में ही शरीर को प्रभावित कर सकता है. ऐसे में कई बार मन में ये सवाल आता है कि लकवा मारने का खतरा किन लोगों को रहता है और इसके क्या लक्षण होते हैं. 

लकवा क्या होता है?
लकवा जिसे ब्रेन स्ट्रोक भी कहते हैं. इस स्थिति में अचानक ब्रेन के किसी हिस्से में डैमेज होने या खून की सप्लाई रुकने पर एक तरफ के अंग काम करना बंद कर देते हैं. इसे लकवा कहते हैं. कई बार हल्का स्ट्रोक आने पर शरीर के एक ओर के हिस्से में काफी कमजोरी आ जाती है. 

क्यों मारता है लकवा?
लकवा मारने के आम तौर पर 2 कारण माने जाते हैं, जिसमें एक है ब्रेन हैम्ब्रेज है यानी दिमाग में जाने वाली ब्लड का पाइप फट जाना. दूसरा कारण है कि दिमाग में खून की सप्लाई करने वाले पाइप में किसी न किसी तरह की ब्लॉकेज आ जाना. ज्यादातर मामलों में पाइप ब्लॉक होने की वजह से ये समस्या होती है. रिपोर्ट्स की मानें तो 85 फीसदी लकवा के केस में ब्लड पाइप ब्लॉक होने के कारण सामने आते हैं. 

लकवा मारने का खतरा किसे ज्यादा है?
अगर बात करें रिस्क फैक्टर की तो ब्लड प्रेशर के मरीज, डायबिटीज के मरीज, लिपिड प्रोफाइल बढ़ने पर लकवा मारने का खतरा ज्यादा रहता है. जिन लोगों को हार्ट से संबधी परेशानी रहती है और ब्लड का थक्का जमने की दिक्कत होती है उन्हें लकवा मारने का खतरा ज्यादा रहता है. 

लकवे का कोई संकेत होता है?
लकवा मारने के पहले से शरीर में कोई संकेत नज़र नहीं आते हैं. डॉक्टर्स का कहना है कि बहुत कम मामलों में इसका पहले से पता चल पाता है. ये बहुत जल्दी होता है जब तक मरीज कुछ समझ पाए या स्थिति को संभाल पाए इसका मौका भी नहीं मिल पाता. 

इन लोगों को रहना चाहिए अलर्ट
लकवा मारने का पहले से पता नहीं चल पाता है लेकिन जिन लोगों को पहले एक छोटा सा लकवा आता है. उन्हें इसे लेकर अलर्ट रहना चाहिए. कई बार बहुत कम समय के लिए बोलने में दिक्कत या शरीर के एक हिस्से में कमजोरी आ जाए तो ये हल्के लकवा के लक्षण हो सकते हैं. हालाकि इस स्थिति में कुछ देर बाद मरीज ठीक हो जाता है. डॉक्टर्स इसे टीआईए कहते हैं. इसे लकवा का संकेत माना जा सकता है.

लकवा के लक्षण?
लकवा मारने पर हाथ, पांव और मुंह पर असर आता है. ऐसे में चलने, बोलने, लिखने और एक तरफ के अंगों को ठीक से काम करने में परेशानी होती है. ऐसे लोगों को कमजोरी बहुत आती है.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें: Remove Spectacle Marks: घंटों चश्मा लगाने से चेहरे पर पड़ जाते हैं निशान, इनसे छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये उपाय

ये भी पढ़ें: Teachers Day Special: बाजार नहीं, अपने हाथ से बनाया कोकोनट केक गिफ्ट देकर टीचर को सरप्राइज करें

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

https://sluicebigheartedpeevish.com/u4j5ka2p?key=f9b1fb0aab078545b23fc443bdb5baad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: